Nai shiksha niti |New Education Policy In India

By:   Last Updated: in: ,

 Nai shiksha niti |New  Education Policy In India

Nai shiksha niti

आज आप लोगों के लिए हमारी टीम Nai shiksha niti के बारे में बताएंगे और  इसका पीडीएफ आप लोगों को साथ शेयर करेंगे तो आप लोग इस पोस्ट को अंत तक   पढ़िए

Nai shiksha niti 2020

नई शिक्षा नीति 2020 भारत की शिक्षा नीति है जिसको भारत सरकार द्वारा 29 जुलाई 2020 को घोषित किया गया है यह भारतीय शिक्षा प्रणाली 1986 में जो शिक्षा नीति जारी हुई थी उसी में बदलाव करके Nai shiksha niti घोषित  की गई है|
भारत के संविधान के नीति निर्देशक तत्व में यह बातें कही गई हैं कि 6 से 14 वर्ष के बच्चों की अनिवार्य एवं निशुल्क शिक्षा की व्यवस्था की जाए जिसे 1948 में डॉक्टर राधाकृष्णन की अध्यक्षता मैं गठन हुआ था तभी से राष्ट्रीय शिक्षा नीति का निर्माण होना शुरू हुआ था इसको समय-समय पर बदलाव किया जाता है सबसे पहले कोठारी आयोग की सिफारिश पर 1968 में पहली बार किस में बदलाव किया गया था उस समय भारत के प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी थी|

फिर जब 1985 में शिक्षा की चुनौती नामक एक दस्तावेज तैयार किया गया जिसके आधार पर भारत के विभिन्न वर्गों  ने अपनी शिक्षा संबंधित अलग-अलग टिप्पणियां दी | जिसके आधार पर Nai shiksha niti 1986 का प्रारूप तैयार किया गया था उसके बाद से अभी तक कभी इसमें बदलाव नहीं किया गया फिर Nai shiksha niti 29 जुलाई 2020 को बदलाव किया गया है |
नई शिक्षा नीति 2020 से पहले 1992 में संशोधन किया गया था जब जनता पार्टी की चुनावी घोषणा पत्र में एक घोषणा में कहा गया था की नई शिक्षा नीति बनाने का विषय भी शामिल होगा फिर 2019 में मानव संसाधन विकास मंत्रालय ने नई शिक्षा नीति के लिए जनता से सलाह मांगने की शुरुआत की थी |

नई शिक्षा नीति ( Nai shiksha niti )  में बदलाव

कुछ महत्वपूर्ण पॉइंट जो आपको हम नीचे बता रहे हैं उसको आप लोग पढ़िए फिर आप इसका पीडीएफ पूरा डिटेल आप लोग डाउनलोड कर सकते हैं
  • नई शिक्षा नीति में मानव संसाधन मंत्रालय का नाम बदलकर शिक्षा मंत्रालय करने का फैसला लिया गया है
  •  इस नीति के तहत जिसमें कानूनी एवं चिकित्सा शिक्षा को छोड़कर सभी के लिए यह कल निकाय के रूप में भारत उच्च शिक्षा आयोग का गठन करने का प्रावधान किया गया है|
  • Nai shiksha niti के तहत एमपी को समाप्त किया जाएगा अब अनुसंधान में जाने के लिए 3 साल के अध्यापक डिग्री के बाद 1 साल का स्नातकोत्तर करके पीएसटी में प्रवेश लिया जा सकता है |
  •  इस नीति के तहत प्रशिक्षण पर विशेष बल दिया गया है|
  • प्राइवेट स्कूल में मनमाने ढंग से FEES रखने और बढ़ाने को रोकने का प्रयास किया गया है |
  • नेशनल साइंस फाउंडेशन के तर्ज पर नेशनल रिसर्च फाउंडेशन लाई गई है जिसमें पाठ्यक्रम में विज्ञान के साथ सामाजिक विज्ञान को भी शामिल किया गया है|
  • स्कूलों में 10 प्लस 2 के स्थान पर 5 प्लस 3 प्लस 3 प्लस 4 का फॉर्मेट शामिल किया गया है|
  • शिक्षण के माध्यम के रूप में पहली से पांचवी क्लास तक मात्रिभाषा का इस्तेमाल किया जाएगा इसके माध्यम से विद्या को रत्ता मार खत्म किया जाएगा |
  • किसी कारण बस विद्यार्थी शिक्षा के बीच में ही कोर्स को छोड़ कर चले जाते हैं तो ऐसा करने पर   कुछ नहीं मिलता एवं उन्हें Degree के लिए दोबारा   से शुरुआत करनी पड़ती थी Nai shiksha niti के तहत पहले वर्ष में कोर्स छोड़ने पर प्रमाण पत्र दूसरे वर्ष में कोर्स छोड़ने पर डिप्लोमा एवं अंतिम वर्ष को छोड़ने पर डिग्री देने का प्रावधान किया गया है
इसका पीडीएफ डाउनलोड करने के लिए आप नीचे दिए गए लिंक पर क्लिक करेंगे तो आप टेलीग्राम चैनल पर चले जाएंगे जहां पर आपको एक फोटो मिलेगा फिर वहां से आप इसको डाउनलोड कर सकते हैं उसके ऊपर आपको एक पीडीएफ फाइल मिलेंगे जहां से आप इसको डाउनलोड कर सकते हैं अगर किसी भी तरह की समस्या होती है तो आप वहां पर ग्रुप में मैसेज कर सकते हैं सारी समस्या का समाधान आपको वहां पर मिल जाएंगे
UPSC/IAS व अन्य State PSC की परीक्षाओं हेतु Toppers द्वारा सुझाई गई महत्वपूर्ण पुस्तकों की सूची


Click Here to Subscribe Our Youtube Channel

Join Here – नई PDF व अन्य Study Material पाने के लिये अब आप हमारे Telegram Channel को Join कर सकते हैं !

किसी भी तरह का समस्या हो तो आप फेसबुक पेज पर मैसेज करें उसका रिप्लाई आपको जरूर दोस्तो आप मुझे ( Goal Study Point ) को Facebook पर Follow कर सकते है ! दोस्तो अगर आपको यह पोस्ट अच्छी लगी हो तो इस Facebook पर Share अवश्य करें  क्रपया कमेंट के माध्यम से बताऐं के ये पोस्ट आपको कैसी लगी आपके सुझावों का भी स्वागत रहेगा Thanks



No comments:
Write comment