GHATNA CHAKRA GEOGRAPHY FOR UPSC AND OTHER PCS

GHATNA CHAKRA GEOGRAPHY FOR UPSC AND OTHER PCS  BPSC UPPCS MPPCS RPSC ,GHATNA CHAKRA GEOGRAPHY BOOK PDF ,GHATNA CHAKRA GEOGRAPHY  BOOK PDF IN HINDI ,GHATNA CHAKRA GEOGRAPHY  BOOK PDF IN HINDI DOWNLOAD,GHATNA CHAKRA BOOK PDF

आज हम आप लोगों के लिए जो बुक का पीडीएफ शेयर कर रहे हैं वह आप लोग यूपीएससी बीपीएससी एमपी पीसीएस यूपीपीएससी या कोई भी पीसीएस की तैयारी कर रहे हैं तो आप लोगों के लिए यह घटना चक्र की बुक पीडीएफ काफी महत्वपूर्ण होंगे और आप लोग जानते भी हैं कि किसी भी एग्जाम में प्रीवियस ईयर की क्या भूमिका होती है और उससे क्वेश्चन कितने पर्सेंट पूछे जाते हैं तो दोस्तों अधिकतर क्वेश्चन जो है पिछले साल की क्वेश्चन से ही पूछ दिए जाते हैं इसलिए अगर तैयारी कर रहे हैं तो इसको पढ़ करके जरूर एक बार जाए तो आज के बारे में चर्चा करेंगे कितने पाठ में बनाया गया है और दोस्तों कितने दिनों में आप  लोगों को मिल जाएगा तो धीरे-धीरे अपलोड किए जाएंगे तो आज फर्स्ट लेकर के आए हैं जिसको आप नीचे दिए गए लिंक के माध्यम से डाउनलोड कर सकते हैं
GHATNA CHAKRA GEOGRAPHY FOR UPSC AND OTHER PCS
इस बुक के बारे में सभी लोग आप लोगों को बताते होंगे किस को पढ़ने के लिए और दोस्तों इसका खास बात यह है कि इसमें जो क्वेश्चन का सलूशन रहते हैं डिटेल में बहुत ही डिटेल में दिए रहते हैं जिसे एक के साथ आपको 3- 4 क्वेश्चन जरूर सॉल्व हो जाते हैं और उस से रिलेटेड क्वेश्चन बन जाते हैं इसके लिए इस पीडीएफ को आप लोग एक बार जरूर डाउनलोड करके पढ़े और एग्जाम से पहले रिवीजन करने के लिए जरूर लेकर के जाए
  • BOOK NAME -GHATNA CHAKRA

  • FORMAT -PDF

  • CREDIT-PUBLICATION
UPSC/IAS व अन्य State PSC की परीक्षाओं हेतु Toppers द्वारा सुझाई गई महत्वपूर्ण पुस्तकों की सूची


Click Here to Subscribe Our Youtube Channel

Join Here – नई PDF व अन्य Study Material पाने के लिये अब आप हमारे Telegram Channel को Join कर सकते हैं !

किसी भी तरह का समस्या हो तो आप फेसबुक पेज पर मैसेज करें उसका रिप्लाई आपको जरूर दोस्तो आप मुझे ( Goal Study Point ) को Facebook पर Follow कर सकते है ! दोस्तो अगर आपको यह पोस्ट अच्छी लगी हो तो इस Facebook पर Share अवश्य करें  क्रपया कमेंट के माध्यम से बताऐं के ये पोस्ट आपको कैसी लगी आपके सुझावों का भी स्वागत रहेगा Thanks

No comments:
Write comment