Thursday, 21 February 2019

ग्रामीण रोजगार कार्यक्रम वृद्धि करने हेतु कदम

By:   Last Updated: in: ,


लघु सिंचाई, मृदा संरक्षण ,वानिकीकरण , भूमि सुधार इत्यादि के लिए इस योजना के दौरान 1972 से 73 में महाराष्ट्र सरकार ने रोजगार गारंटी योजना प्रारंभ किया था इससे ग्रामीण युवाओं को रोजगार प्रदान किया गया था प्रत्येक श्रमिक का न्यूनतम ₹3 प्रदान किया गया था पांचवी पंचवर्षीय योजना बेरोजगारी दूर करने के लिए योजनाओं की प्राथमिकता दिया गया था इस योजना में भी श्रम प्रधान परियोजना पर बल दिया गया था परंतु इस योजना में सिर्फ मजदूरी प्रदान करने वाले रोजगार अवसर पर ध्यान ना देकर स्वरोजगार के अलावा अवसर प्रदान किया गया





इसी योजना में काम के बदले अनाज कार्यक्रम चलाया गया इसके माध्यम से ग्रामीण क्षेत्रों मैं मजदूरी करने वाले व्यक्ति को मजदूरी की जगह अनाज दिया जाने लगा 1977 में शुरू इस योजना को प1980 में ही समाप्त कर दिया गया परंतु इससे ग्रामीण क्षेत्रों में रोजगार सृजन में काफी सहायता मिली आगे इस कार्यक्रम को राष्ट्रीय ग्रामीण रोजगार कार्यक्रम के रूप में परिवर्तित कर दिया गया





छठी पंचवर्षीय योजना बेरोजगारी उन्मूलन की दृष्टि से दीर्घकालीन तथा अल्पकालीन दोनों प्रकार के उपाय अपनाए गए इस योजना में स्वरोजगार के अवसर उत्पन्न करने पर विशेष बल दिया गया इस योजना में रोजगार प्रदान करने हेतु अनेक कार्यक्रम चलाए गए





  • समन्वित ग्रामीण विकास कार्यक्रम
  • राष्ट्रीय ग्रामीण रोजगार कार्यक्रम
  • ग्रामीण युवकों को रोजगार के लिए प्रशिक्षण योजना
  • ऑपरेशन फ्लड द्वितीय डेयरी प्रोजेक्ट
  • फिश फॉर्मर्स डेवलपमेंट




सातवीं पंचवर्षीय योजना मेरी गरीबी उन्मूलन कार्यक्रम के अंतर्गत मजदूरी रोजगार तथा स्वरोजगार जारी रखे गए





आठवीं पंचवर्षीय योजनाएं में भी कार्यक्रम जारी रखा गया साथी 1993 में आश्वाशन योजना चालू की गई इसका उद्देश्य रोजगार की तलाश में जुटे ग्रामीण लोगों को 100 दिनों का अब कुशल शारीरिक कार्य उपलब्ध कराना है





जरूर पढ़ें









हमारी यह   की पूरी जानकारी मुझे आशा होगी की आपको यह जानकारी बहुत ही अच्छी लगी होगी अगर आपको इसी से सम्बन्धित और भी कुछ जानकारी या अन्य कोई भी जानकारी चाहिए तो नीचे दिए गए तो आप FACEBOOK PAGE के माध्यम से PERSONAL MASSAGE कर सकते है दे सकते हैं।





YOUTUBE पर वीडियो देख सकते है





फेसबुक पेज





INSTAGRAM


1 comment:
Write comment