5G NETWORK INTERNET


5G को जानने से पूर्व हमें संक्षिप्त कुछ खास तकनीकी शब्दाबलीयो के बारे में भी जान लेना आवश्यक है,इंटरनेट क्षेत्र से महत्वपूर्ण शब्दाबलियों में 2G ,3G ,4G,LTE ,VOLTE तथा SPECTRUM आदि महत्वपूर्ण है,1G वायरलेस सेकुलर तकनीक (मोबाइल ,दूर संचार ) पहली पीढ़ी की तकनीक है, जो एनालॉग सिग्नल अधारित है, यह मुलत;वॉइस कालिंग की सुविधा उपलब्ध कराती है,इंटरनेट की सुविधा उपलब्ध कराती है,





इंटरनेट दुनिया में महत्वपूर्ण क्रांति 2G तकनीक के बाद आई ,2G सिगनल GSM और CDMA तकनीकियों में डिजिटलीकृत प्रारूप में संचालित होते है,नेटवर्क की तृतीय पीढ़ी जिसे हम 3G (THIRD GENERATION )तथा एक आधुनिक तकनीक 4G के रूप में जानते है,यह तकनीक पीढ़ी दर पीढ़ी अपनी क्षमता ,रफ़्तार ,मशीन ,टू मशीन डाटा कम्युनिकेशन जैसी सेवाओं के क्षेत्र में तीव्रता लाती रही है,





अब बात आती है इसकी अगली पीढ़ी यानि पांचवी पीढ़ी अथार्त 5G ,दरअसल यह 4G नेटवर्क के बाद की अगली पीढ़ी मोबाइल नेटवर्क तकनीक है, इसके संचालन से न केवल डाटा संचार तीव्रता आएगी बल्कि इससे सक्रिय में होने वाली देरी में भी कमी आएगी ,इसका इस्तेमाल ऊर्जा की काम खपत ,कम लागत तथा किसी भी इंटरनेट आधारित प्रणाली की कार्यकुशलता अधिक -से-अधिक संख्या में उपकरणों कनेक्टिविटी को बढ़ाने में सहायक साबित हो सकेगा ,





किसी भी प्रकार का ताररहित नेटवर्क विभिन्न सेल साइटों से मिलकर बना होता है,जो रेडियो तरंगो के माध्यम से भेजे जाने वाले सिगनल में विभक्त होते है ,जहाँ 4G नेटवर्क के संचार के लिए बड़ी मात्रा में टावर की आवश्यकता होती है ,वही 5G नेटवर्क के प्रसारण के लिए किसी भी के प्रकार की टावर की आवश्यकता नहीं होगी बल्कि इसमें सिग्नलों का ट्रांसमिशन घाटों अथवा बिजली खम्भों में लगे छोटे सेल स्टेशनों के माध्यम किया जायेगा ,





5G नेटवर्क उपलब्धता सुनिश्चित कराने की दिशा में छोटे सेल मिलीमीटर तरंग स्पेक्ट्रम के कारण अधिक महत्वपूर्ण ,होते है,ध्यातथ्य है की मिलीमीटर तरंग स्पेक्ट्रम बैंड रेंज 30 गीगाहर्ट्ज से 300 GHz तक हो सकती है,जिसे 5G नेटवर्क अधिक तीव्रता से सेवाएं उपलब्ध कराने में सक्षम पायेगा ,इस तकनीक के सुचारु सुचारु क्रियानवयन लिए के स्पेक्ट्रम इस्तेमाल किया जायेगा और करने योग्य है,अनलासेंसेड स्पेक्ट्रम से अर्थ ऐसे स्पेक्ट्रम से है,जिसे प्राप्त करने लिए हर कोई स्वतंत्र है,तथा इसके लिए प्राप्तकर्ता महंगे लाइसेंस एवं विशेष विशेष अनुमति लेने की आवश्यकता नहीं होती ,





यह तकनीक विभिन्न इंटरनेट आधारित सुविधा आसानी कनेक्ट करने सुविधा तथा विश्वसनीय साथ -साथ न केवल डौन्लोडिंग की अति और सफ्रिंग की गति में ही तीव्रता लाएगी बल्कि ये सूचना संचार एवं नई उभरती आई ओ टी तकनीक जिसमे अतयधिक उच्च क्षमता युक्त इंटरनेट स्पीड आवश्यकता होती है आदि दिशा क्रन्तिकारी परिवर्तन लाने में सक्षम है ,





इंटरनेट के क्षेत्र में 5G कनेक्शन की शुरुआत से भारत के नई इंडिया मिशन ,भारत नेट परियोजना तथा प्रधानमंत्री स्मार्ट सिटी परियोजना आदि को भी काफी हद तक सफल बनाया सकेगा ,इसके अलावा इससे भारत में सूचना सुरक्षा स्वास्थ्य तथा परिवहन आदि जैसे क्षेत्रो में भी क्रांति आएगी ,





अतः 5G नेटवर्क के लाभ को देखते हुए देश में इसके विनिमयन क्षेत्र में उत्पन्न होने वाली विभिन्न प्रकार की चुनौतियों के उचित समाधान कर देशमें इसकी शुरुआत किये जाने दिशा में आगे बढ़ना चाहिए जो देश के विकास महत्वपूर्ण साबित हो सकता है,





MAHESH KUMAR BARWAL CHEMISTRY





MAHESH KUMAR BARNWAL ECONOMY





MAHESH KUMAR BARNWAL WORLD GEOGRAPHY





MAHESH KUMAR BARWAL INDIAN GEOGRAPHY





MAHESH KUMAR BARWAL HISTORY-1





MAHESH KUMAR BARWAL HISTORY -2





MAHESH KUMAR BARWAL HISTORY -3





MAHESH KUMAR BARNWAL PHYSICS





MAHESH KUMAR BARWAL BOOK PDF





BPSC MAINS SYLLABUS


1 comment:
Write comment